भारत के चंद्रयान 2 के सफलता पूर्वक लॉन्च के बाद अब उसके चन्द्रमा की सतह पर उतने का बेसब्री से इंतजार है। पृथ्वी की सतह से चंद्रयान 2 को चन्द्रमा की सतह पर पहुंचने में पुरे 48 दिनों का सफर करना है जो अमेरिका और रूस के अपेछा अधिक समय है अमेरिका के APOLO 11 को चन्द्रमा की सतह पर जाने में मात्र चार दिनों का समय लगा था इसी तरह रूस के LUNA 2 को मात्र 34 घंटे लगा था।

जबकी भरत को 48 दिनों का इंतजार करना पड़ रहा है क्योकि भारत के पास सीधे की तरफ ऊपर जाने वाला शक्तिशाली रॉकेट नहीं है। इसीलिए इसरो ने पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण के लाभ को उठाने के लिए GSLV MARK III राकेट से लॉन्च किया था। इस राकेट की छमता केवल 4 टन तक का भार उठाने की है जबकि चंद्रयान 2 का वजन 3. 8 टन है। चंद्रयान II सितंबर 7 की सुबह चन्द्रमा के दक्षिणी ध्रुव पर लैंड करेगा।


2 टिप्पणियाँ

Yogeshkumar · अगस्त 11, 2019 पर 3:51 अपराह्न

News

अमितेश कुमार · अगस्त 12, 2019 पर 5:04 पूर्वाह्न

Yes. News in Hindi

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *